गणना 1 HCV – Números 1 OL

Select chapter 1

Hindi Contemporary Version

गणना 1:1-54

इस्राएली-योद्धाओं की गिनती

1इस्राएल के घराने के मिस्र देश से निकल जाने के बाद दूसरे वर्ष के दूसरे महीने की पहली तारीख पर सीनायी के निर्जन प्रदेश में मिलनवाले तंबू में याहवेह ने मोशेह को यह आज्ञा दी: 2“इस्राएल के घराने की सारी सभा की, उनके परिवारों की, उनके पितरों के अनुसार हर एक पुरुष की, व्यक्तिगत रूप से गिनती करना. 3यह आलेख उन सभी का होगा, जिनकी अवस्था बीस वर्ष तथा इससे अधिक की है, इस्राएल में जो भी युद्ध के लिए योग्य है, तुम तथा अहरोन उनके दल के अनुसार उनकी गिनती करोगे. 4इसके अलावा तुम्हारे साथ हर एक कुल का एक व्यक्ति पितरों का प्रधान रहेगा.

5“तुम्हारी सहायता के लिए ठहराए गए पुरुषों के नाम ये है:

“रियूबेन से शेदेउर का पुत्र एलिज़ुर;

6शिमओन से ज़ुरीषद्दोई का पुत्र शेलुमिएल;

7यूदाह से अम्मीनादाब का पुत्र नाहशोन;

8इस्साकार से ज़ुअर का पुत्र नेथानेल;

9ज़ेबुलून से हेलोन का पुत्र एलियाब;

10योसेफ़ के पुत्रों में:

से एफ्राईम में से अम्मिहुद का पुत्र एलीशामा;

मनश्शेह में से पेदाहज़ुर का पुत्र गमालिएल;

11बिन्यामिन से गिदयोनी का पुत्र अबिदान;

12दान से अम्मीषद्दाई का पुत्र अहिएज़र;

13आशेर से ओखरन का पुत्र पागिएल;

14गाद से देउएल का पुत्र एलियासाफ़;

15नफताली से एनन का पुत्र अहीरा.”

16ये वे व्यक्ति थे, जिनका चुनाव सारी सभा में किया गया. ये पैतृक गोत्रों के प्रधान तथा इस्राएल के कुल के प्रमुख थे.

17फिर मोशेह तथा अहरोन ने इन चुने हुए व्यक्तियों को अपने साथ लिया 18तथा उन्होंने सारी सभा को इकट्ठा कर लिया, यह दूसरे महीने की पहली तारीख थी. फिर सभी ने अपने पूर्वजों के नाम के अनुसार अपने कुलों एवं परिवारों के अनुसार, जितने भी बीस वर्ष अथवा इससे अधिक आयु के थे, व्यक्तिगत रूप से अपना-अपना पंजीकरण करवाया, 19ठीक जैसा याहवेह ने मोशेह को आदेश दिया था. इस प्रकार मोशेह द्वारा सीनायी जंगल में यह जनगणना पूरी हुई.

20इस्राएल के प्रथमजात रियूबेन के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके पितरों के कुटुंब, एवं परिवारों के अनुसार. 21इस प्रकार रियूबेन के गोत्र के 46,500 नाम नामांकित कर लिए गए.

22शिमओन के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 23शिमओन के गोत्र से 59,300.

24गाद के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 25गाद के गोत्र से 45,650.

26यूदाह के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 27यहूदाह के गोत्र से 74,600.

28इस्साकार के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 29इस्साकार के गोत्र से 54,400.

30ज़ेबुलून के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 31ज़ेबुलून के गोत्र से 57,400.

32योसेफ़-पुत्र:

एफ्राईम के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 33एफ्राईम के गोत्र से 40,500.

34योसेफ़-पुत्र मनश्शेह के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 35मनश्शेह के गोत्र से 32,200.

36बिन्यामिन के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 37बिन्यामिन के गोत्र से 35,400.

38दान के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 39दान के गोत्र से 62,700.

40आशेर के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 41आशेर के गोत्र से 41,500.

42नफताली के वंशज:

बीस अथवा इससे अधिक आयु के वे सारे पुरुष, जो युद्ध के लिए योग्य थे, उनके कुटुंब, उनके पितरों एवं परिवारों के अनुसार. 43नफताली के गोत्र से 53,400.

44ये सभी वे हैं जो मोशेह तथा अहरोन और इस्राएल के बारह गोत्र के प्रधानों द्वारा जो अपने-अपने परिवारों का प्रतिनिधित्व करते हैं, इस गणना में गिने गए थे. 45फिर उनके पितरों के अनुसार बीस वर्ष तथा इससे अधिक अवस्था के इस्राएल के युद्ध के लिए योग्य सभी पुरुषों की गिनती करी गई. 46गणित पुरुषों की संख्या 6,03,550 हुई.

लेवी इससे विमुक्त रखे गए

47किंतु लेवियों के गोत्र की गिनती उनके पितरों के अनुसार उनमें नहीं की गई. 48क्योंकि याहवेह मोशेह को यह संदेश दे चुके थे: 49“मात्र लेवी कुल की गिनती न की जाए, वे इस्राएल के घराने की गिनती में शामिल नहीं होंगे. 50किंतु तुम लेवियों को साक्षी के तंबू, इससे संबंधित सारी सज्जा तथा इसकी सारी सामग्री के लिए नियुक्त करोगे. वे ही साक्षी के तंबू तथा इससे संबंधित सारी वस्तुओं को उठाया करेंगे, वे ही इनके रख रखाव के अधिकारी होंगे. इसके अलावा वे साक्षी के तंबू के आस-पास पड़ाव डाला करेंगे. 51जब कभी साक्षी के तंबू को यात्रा के पहले गिराना आवश्यक हो, तब लेवी ही इसे गिराएंगे तथा जब कभी पड़ाव डालना ज़रूरी हो जाए तो लेवी ही इसे खड़ा करेंगे. इस अवसर पर यदि कोई सामान्य व्यक्ति निकट आ जाए, उसे मृत्युदण्ड दिया जाए. 52सारा इस्राएल अपने-अपने संभाग के अनुसार ड़ेरा डालेगा, हर एक अपने-अपने ठहराए गए समूह में तथा अपने-अपने झंडे के निकट डेरा डाला करेगा. 53किंतु लेवी हमेशा ही साक्षी के तंबू के आस-पास ही पड़ाव डाला करेंगे कि इस्राएल के घराने पर मेरा क्रोध न भड़के. तब लेवी ही साक्षी के तंबू के अधिकारी होंगे.”

54इस्राएल के घराने ने यही किया, जैसा याहवेह द्वारा मोशेह को आज्ञा दी गई थी.

O Livro

Números 1:1-54

Recenseamento dos israelitas

1No primeiro dia do segundo mês1.1 Mês de Zive. Entre a lua nova do mês de abril e o mês de maio. do segundo ano depois dos israelitas terem deixado o Egito, o Senhor deu as seguintes instruções a Moisés, que se encontrava nessa ocasião na tenda do encontro, enquanto Israel estava acampado no deserto de Sinai: 2“Faz um recenseamento de todos os homens israelitas, 3-5a partir da idade de 20 anos, que sejam aptos para combater; indica também a tribo e a família de cada um.

Tu e Aarão ficarão responsáveis por essa iniciativa e serão assistidos pelos chefes de cada tribo, deste modo:

da tribo de Rúben: Elizur, filho de Sedeur;

6da tribo de Simeão: Selumiel, filho de Zurisadai;

7da tribo de Judá: Nassom, filho de Aminadabe;

8da tribo de Issacar: Netanel, filho de Zuar;

9da tribo de Zebulão: Eliabe, filho de Helom;

10Dos filhos de José:

Elisama, filho de Amiude, pela tribo de Efraim;

Gamaliel, filho de Pedazur, pela tribo de Manassés;

11da tribo de Benjamim: Abidã, filho de Gideoni;

12da tribo de Dan: Aiezer, filho de Amisadai;

13da tribo de Aser: Pagiel, filho de Ocrã;

14da tribo de Gad: Eliasafe, filho de Deuel;

15da tribo de Naftali: Airá, filho de Enã.”

16Foram estes os nomeados para a tarefa indicada.

17Moisés e Aarão, com os chefes acima indicados, 18convocaram todos os homens de Israel no primeiro dia do segundo mês com idade a partir de 20 anos para virem registar-se e indicar a sua tribo e família, 19tal como o Senhor ordenara a Moisés no deserto do Sinai.

Foi esta a contagem final:

20-21Rúben, o filho mais velho de Jacob: 46 500;

22-23Simeão: 59 300;

24-25Gad: 45 650;

26-27Judá: 74 600;

28-29Issacar: 54 400;

30-31Zebulão: 57 400;

32-33José: Efraim: 40 500;

34-35Manassés: 32 200;

36-37Benjamim: 35 400;

38-39Dan: 62 700;

40-41Aser: 41 500;

42-43Naftali: 53 400.

44-46O total de homens israelitas recenseados, aptos para o exército, foi de: 603 550.

47Esta relação não inclui os levitas, 48porque o Senhor tinha dito a Moisés 49que isentasse os levitas dessa obrigação e não os incluísse no recenseamento; 50-52pois a sua atividade está relacionada com o tabernáculo e o seu transporte. O seu dever é viver junto dele; assim, quando tiver de ser deslocado, os levitas terão de o desmontar para tornar a armá-lo onde for preciso. Outra pessoa, quem quer que seja, que venha a tocar nele morrerá. Cada tribo levantará o seu acampamento em áreas separadas, com a sua bandeira própria. 53Mas os levitas agrupar-se-ão à volta do tabernáculo como uma parede entre o povo e a severidade de Deus, que é santo, para os proteger da ira divina.

54Todas estas instruções do Senhor a Moisés foram postas em execução.