उत्पत्ति 36 HCV – Mattiyu 36 HCB

Select chapter 36

Hindi Contemporary Version

उत्पत्ति 36:1-43

एसाव के वंशज

1एसाव (अर्थात एदोम) के वंशज इस प्रकार है.

2एसाव ने कनान देश की ही कन्याओं से विवाह कर लिया. हित्ती एलोन की पुत्री अदाह, अनाह की पुत्री तथा हिव्वी ज़िबेओन की पौत्री ओहोलिबामाह थे; 3इसके अलावा उन्होंने इशमाएल की पुत्री नेबाइयोथ की बहन बसेमाथ से भी विवाह किया था.

4एसाव से अदाह ने एलिफाज़ को जन्म दिया तथा बसेमाथ ने रियुएल को जन्म दिया, 5ओहोलिबामाह ने योउश, यालम तथा कोराह को जन्म दिया. कनान देश में एसाव के ये ही पुत्र उत्पन्न हुए.

6इसके बाद एसाव अपनी पत्नियों, पुत्र-पुत्रियों, अपने संपूर्ण घर-परिवार, अपने पशु, तथा अपनी समस्त संपत्ति को लेकर, जो उसने कनान देश में पाई थी, अपने भाई याकोब से दूर देश में जाकर रहा. 7उन दोनों की संपत्ति इतनी अधिक थी कि दोनों का एक साथ रहना मुश्किल था; वह भूमि दोनों परिवारों के पोषण के लिए काफ़ी बड़ी नहीं थी. उनके पास अत्यधिक पशु थे. 8इसलिये एसाव सेईर के पर्वतीय क्षेत्र में रहने लगे. एसाव (तथा एदोम) एक ही नाम है.

एसाव के वंशज

9सेईर के पर्वतीय क्षेत्र में बसे हुए एदोमियों के वंश एसाव की पीढ़ियां इस प्रकार है.

10एसाव के पुत्र थे:

एसाव की पत्नी अदाह से जन्मे एलिफाज़, एसाव की पत्नी बसेमाथ का पुत्र रियुएल.

11एलिफाज़ के पुत्र:

तेमान, ओमर, ज़ेफो, गाताम तथा केनाज़ थे. 12एसाव के पुत्र एलिफाज़ के दासी का नाम तिम्ना था, जिसने एलिफाज़ से अमालेक को जन्म दिया. ये एसाव की पत्नी अदाह की संतान हैं.

13रियुएल के पुत्र थे:

नाहाथ, ज़ेराह, शम्माह तथा मिज्जाह. ये एसाव की पत्नी बसेमाथ द्वारा उत्पन्न हुए थे.

14अनाह की पुत्री, ज़िबेओन की पौत्री, एसाव की पत्नी ओहोलिबामाह के पुत्र

योउश, यालम तथा कोराह थे.

15एसाव के पुत्रों में प्रमुख ये थे:

एसाव के बड़े बेटे एलिफाज़ के पुत्र:

तेमान, ओमर, ज़ेफो, केनाज़, 16कोरह, गाताम, अमालेक. एदोम देश में एलिफाज़ के ये पुत्र थे, ये सभी अदाह वंश के थे.

17एसाव के पुत्र रियुएल के पुत्र:

नाहाथ, ज़ेराह, शम्माह, मिज्जाह. ये वे प्रधान हैं, जो एदोम देश में रियुएल द्वारा जन्मे थे—ये वे हैं, जो एसाव की पत्नी बसेमाथ से उत्पन्न हुए थे.

18एसाव की पत्नी ओहोलिबामाह के पुत्र है:

योउश, यालम, कोराह. ये एसाव की पत्नी अनाह की पुत्री ओहोलिबामाह के द्वारा जन्मे हैं.

19ये एसाव (अर्थात एदोम) के पुत्र तथा उनके प्रधान हैं.

20ये उस देश के होरी सेईर के पुत्र है:

लोतन, शोबल, ज़िबेओन, अनाह, 21दिशोन, एज़र तथा दिशान. ये सभी एदोम देश के वे प्रधान हैं. जो होरियों के वंश के सेईर के पुत्र हैं.

22लोतन के पुत्र:

होरी तथा हेमम, तथा तिम्ना लोतन की बहन थी.

23शोबल के पुत्र थे:

अलवान, मानाहाथ, एबल, शेफो तथा ओनम थे.

24ज़िबेओन के पुत्र ये है

अइयाह तथा अनाह (यह वही अनाह है, जिसने निर्जन देश में, अपने पिता ज़िबेओन के गधों को चराते हुए गर्म पानी के झरने की खोज की थी.)

25अनाह की संतान है:

दिशोन तथा ओहोलिबामाह, जो अनाह की पुत्री थी.

26दिशोन के पुत्र:

हेमदान, एशबान, इथरान तथा चेरन.

27एज़र के पुत्र:

बिलहान, त्सावन और आकन.

28दिशान के पुत्र:

उज और अरान.

29वे प्रधान, जो होरियों वंश के, ये है

लोतन, शोबल, ज़िबेओन, अनाह, 30दिशोन, एज़र तथा दिशान.

सेईर देश में होरी जाति के लोग प्रधान बने.

31तब तक इस्राएल वंश पर किसी राजा ने शासन नहीं किया था, जब एदोम देश बेओर का:

32पुत्र बेला का शासन था तथा उसके द्वारा शासित नगर का नाम दिनहाबाह था.

33बेला के मरने के बाद, उसके स्थान पर बोज़राहवासी ज़ेराह का पुत्र योबाब राजा बना.

34योबाब के मरने के बाद, उसके स्थान पर तेमानियों के देश का व्यक्ति हुशम राजा बना.

35हुशम के मरने के बाद, उसके स्थान पर बेदद के पुत्र हदद राजा बना. उसने मोआब देश में मिदियनी सेना को हरा दिया. उसके द्वारा शासित नगर का नाम था आविथ.

36हदद के मरने के बाद, उसके स्थान पर मसरेकाह का सामलाह राजा बना.

37सामलाह के मरने के बाद, फरात नदी पर बसे रेहोबोथ का निवासी शाऊल उनके स्थान पर राजा बना.

38शाऊल के मरने के बाद, उसके स्थान पर अखबोर का पुत्र बाल-हनन राजा बना.

39अखबोर का पुत्र बाल-हनन के मरने के बाद, उसके स्थान पर हादार राजा बना. उस नगर का नाम पाऊ था तथा उसकी पत्नी का नाम मेहेताबेल था, जो मातरेद की पुत्री, और मातरेद मेत्साहब की पुत्री थी.

40एसाव के वंश में जो प्रधान थे उनके नाम:

तिम्ना, अलवाह, यथेथ,

41ओहोलिबामाह, एलाह, पिनोन,

42केनाज़, तेमान, मिबज़ार,

43मगदिएल, इराम.

ये सभी एदोम देश के प्रधान हुए.

अर्थात एसाव जो एदोमियों का कुलपिता था, हर एक परिवार एक प्रदेश में रहा, जिस प्रदेश का नाम भी वही था जो उनका पारिवारिक नाम था.

Hausa Contemporary Bible

This chapter is not currently available. Please try again later.