New Amharic Standard Version

ሚክያስ 3:1-12

መሪዎችና ነቢያት ተገሠጹ

1ከዚያም እኔ እንዲህ አልሁ፤

“እናንት የያዕቆብ መሪዎች፤

እናንት የእስራኤል ቤት ገዦች ስሙ፤

ፍትሕን ማወቅ አይገባችሁምን?

2መልካሙን ጠላችሁ፤ ክፉውንም ወደዳችሁ፤

የሕዝቤን ቈዳ ገፈፋችሁ፤

ሥጋቸውንም ከዐጥንቶቻቸው ለያችሁ፤

3የሕዝቤን ሥጋ በላችሁ፤

ቈዳቸውን ገፈፋችሁ፤

ዐጥንቶቻቸውንም ሰባበራችሁ፤

በመጥበሻ እንደሚጠበስ፣

በድስት እንደሚቀቀል ሥጋ ቈራረጣችኋቸው።

4እነርሱም ወደ እግዚአብሔር ይጮኻሉ፤

እርሱ ግን አይመልስላቸውም፤

ካደረጉት ክፋት የተነሣ፣

በዚያ ጊዜ ፊቱን ከእነርሱ ይሰውራል።

5እግዚአብሔር እንዲህ ይላል፤

“ሕዝቤን የሚያስቱ ነቢያት፣

ሰው ሲያበላቸው፣ ‘ሰላም አለ’ ይላሉ፤

ሳያበላቸው ሲቀር ግን፣

ጦርነት ሊያውጁበት ይነሣሉ።

6ስለዚህ ሌሊቱ ያለ ራእይ፣

ጨለማውም ያለ ንግርት ይመጣባችኋል፤

በነቢያት ላይ ፀሐይ ትጠልቅባቸዋለች፤

ቀኑም ይጨልምባቸዋል።

7ባለ ራእዮች ያፍራሉ፤

ንግርተኞችም ይዋረዳሉ፤

ሁሉም ፊታቸውን ይሸፍናሉ፤

ከእግዚአብሔር መልስ የለምና።”

8እኔ ግን፣

ለያዕቆብ በደሉን፣

ለእስራኤልም ኀጢአቱን እነግር ዘንድ

ኀይልን፣ በእግዚአብሔር መንፈስ፣

ፍትሕና ብርታት ተሞልቻለሁ።

9እናንት የያዕቆብ ቤት መሪዎች፣

እናንት የእስራኤል ቤት ገዦች፣

ፍትሕን የምትንቁ፤

ትክክለኛ የሆነውንም ነገር ሁሉ የምታጣምሙ፤ ስሙ፤

10ጽዮንን ደም በማፍሰስ፣

ኢየሩሳሌምን በክፋት የምትገነቡ፤ ስሙ።

11መሪዎቿ በጒቦ ይፈርዳሉ፤

ካህናቷ ለዋጋ ሲሉ ያስተምራሉ፤

ነቢያቷም ለገንዘብ ሲሉ ይናገራሉ።

ነገር ግን በእግዚአብሔር ላይ ተደግፈውም፣

እግዚአብሔር በመካከላችን አይደለምን?

ምንም ዐይነት ክፉ ነገር አይደርስብንም” ይላሉ።

12ስለዚህ በእናንተ ምክንያት፣

ጽዮን እንደ እርሻ ትታረሳለች፣

ኢየሩሳሌም የፍርስራሽ ክምር ትሆናለች፤

የቤተ መቅደሱም ኰረብታ ዐረም የበቀለበት ጒብታ ይሆናል።

Hindi Contemporary Version

मीकाह 3:1-12

अगुवों और भविष्यवक्ताओं को डांट

1तब मैंने कहा,

“हे याकोब के अगुवो,

हे इस्राएल के शासको, सुनो.

क्या तुम्हें न्याय से प्रेम नहीं करना चाहिये,

2तुम जो भलाई से घृणा करते हो और बुराई से प्रेम करते हो;

तुम जो मेरे लोगों का खाल

और उनकी हड्डियों से मांस नोच लेते हो;

3तुम जो मेरे लोगों का मांस खाते हो,

उनका खाल खींच लेते हो

और उनके हड्डियों को टुकड़े-टुकड़े कर देते हो;

उनकी अस्थियों को चूर्ण कर देते हो

तुम जो उनको कड़ाही में पकाने वाले मांस

या बर्तन में रखे मांस की तरह काट डालते हो?”

4तब वे याहवेह को पुकारेंगे,

पर याहवेह उनकी नहीं सुनेंगे.

उनके बुरे कामों के कारण

उस समय वह अपना मुख उनसे छिपा लेंगे.

5याहवेह का यह कहना है:

“वे भविष्यवक्ता

जो मेरे लोगों को भटका देते हैं,

यदि उनको खाने को कुछ मिलता है,

तब वे शांति की घोषणा करते हैं,

पर जो व्यक्ति उनको खिलाने से मना करता है,

उसके विरुद्ध लड़ाई करने को तैयार हो जाते हैं.

6इसलिये तुम्हें बिना बताये तुम्हारे ऊपर रात्रि आ जाएगी,

और बिना बताये तुम्हारे ऊपर अंधेरा छा जाएगा.

इन भविष्यवक्ताओं के लिये सूर्यास्त हो जाएगा,

और दिन रहते उन पर अंधेरा छा जाएगा.

7भविष्यदर्शी लज्जित होंगे

और भविष्य बतानेवाले कलंकित होंगे.

वे सब लज्जा से अपना मुंह ढांप लेंगे

क्योंकि उन्हें परमेश्वर से कोई उत्तर न मिलेगा.”

8पर जहां तक मेरा सवाल है,

मैं याहवेह के आत्मा के साथ सामर्थ्य से,

तथा न्याय और बल से भरा हुआ हूं,

ताकि याकोब को उसका अपराध,

और इस्राएल को उसका पाप बता सकूं.

9हे याकोब के अगुवो,

हे इस्राएल के शासको, यह बात सुनो,

तुम जो न्याय को तुच्छ समझते हो

और सब सही बातों को बिगाड़ते हो;

10तुम जो ज़ियोन को रक्तपात से,

और येरूशलेम को दुष्टता से भरते हो.

11उसके अगुवा घूस लेकर न्याय करते हैं,

उसके पुरोहित दाम लेकर शिक्षा देते हैं,

और उसके भविष्यवक्ता पैसों के लिये भविष्य बताते हैं.

तौभी वे याहवेह की मदद की कामना करते हुए कहते हैं,

“क्या याहवेह हमारे मध्य में नहीं हैं?

कोई भी विपत्ति हमारे ऊपर नहीं आएगी.”

12इसलिये तुम्हारे ही कारण,

ज़ियोन पर खेत के सदृश हल चला दिया जाएगा,

येरूशलेम खंडहर हो जाएगा,

तथा भवन की पहाड़ी वन में पूजा स्थल का स्वरूप ले लेगी.