Korean Living Bible

시편 146:1-10

하나님만 의지하라

1여호와를 찬양하라!

내 영혼아,

여호와를 찬양하라!

2내가 살아 있는 동안

여호와를 찬양하며

내 평생에

하나님을 찬송하리라.

3146:3 또는 ‘방백을’권력 있는 사람을 의지하지 말며

도울 힘이 없는

인간을 의지하지 말아라.

4사람이 죽으면

흙으로 돌아가게 되는데

그 날로 모든 계획이

수포로 돌아갈 것이다.

5야곱의 하나님을 의지하고

자기 하나님 여호와께

희망을 두는 자는 복이 있다.

6여호와는 천지와 바다와

그 가운데 있는 모든 것을

창조한 분이시며

언제나 약속을 지키는 분이시다.

7그는 억눌린 자를 위해

공정한 판단을 내리시며

굶주린 자에게

먹을 것을 주시고

갇힌 자를 석방하신다.

8그는 소경의 눈을 뜨게 하시고

넘어진 자를 일으키시며

의로운 자를 사랑하신다.

9여호와는

나그네를 보호하시고

고아와 과부를 돌보시지만

악인의 계획은 좌절시키신다.

10여호와는 영원한 왕이시다.

시온아, 네 하나님이

대대로 통치하시리라.

여호와를 찬양하라!

Hindi Contemporary Version

स्तोत्र 146:1-10

स्तोत्र 146

1याहवेह का स्तवन हो.

मेरे प्राण, याहवेह का स्तवन करो.

2जीवन भर मैं याहवेह का स्तवन करूंगा;

जब तक मेरा अस्तित्व है, मैं अपने परमेश्वर का स्तुति गान करता रहूंगा.

3प्रधानों पर अपना भरोसा आधारित न करो—उस नश्वर मनुष्य पर,

जिसमें किसी को छुड़ाने का कोई सामर्थ्य नहीं है.

4जब उसके प्राण पखेरू उड़ जाते हैं, वह भूमि में लौट जाता है;

और ठीक उसी समय उसकी योजनाएं भी नष्ट हो जाती हैं.

5धन्य होता है वह पुरुष, जिसकी सहायता का उगम याकोब के परमेश्वर में है,

जिसकी आशा याहवेह, उसके परमेश्वर पर आधारित है.

6वही स्वर्ग और पृथ्वी के,

समुद्र तथा उसमें चलते फिरते सभी प्राणियों के कर्ता हैं;

वह सदा-सर्वदा विश्वासयोग्य रहते हैं.

7वही दुःखितों के पक्ष में न्याय निष्पन्न करते हैं

भूखों को भोजन प्रदान करते हैं.

याहवेह बंदी को छुड़ाते हैं,

8वह अंधों की आंखें खोल दृष्टि प्रदान करते हैं,

याहवेह झुके हुओं को उठाकर सीधा खड़ा करते हैं,

उन्हें धर्मी पुरुष प्रिय हैं.

9याहवेह प्रवासियों की हितचिंता कर उनकी रक्षा करते हैं

वही हैं, जो विधवा तथा अनाथों को संभालते हैं,

किंतु वह दुष्टों की युक्तियों को नष्ट कर देते हैं.

10याहवेह का साम्राज्य सदा के लिए है,

ज़ियोन, पीढ़ी से पीढ़ी तक तेरा परमेश्वर राजा हैं.

याहवेह का स्तवन करो.