Chinese Contemporary Bible (Traditional)

創世記 40:1-23

約瑟解夢

1後來,埃及王的侍酒總管和膳食總管得罪了王, 2王非常憤怒, 3把他們囚禁在護衛長波提乏府內的監牢裡,也就是約瑟被囚的地方。 4護衛長派約瑟去伺候他們。他們在監裡待了一段日子。

5一天晚上,他們倆都做了夢,他們的夢各有不同的意思。 6第二天早上,約瑟過來見他們神情沮喪, 7就問:「你們今天為什麼滿面愁容?」 8他們回答說:「我們都做了夢,可是沒有人給我們解夢。」約瑟說:「解夢的能力不是來自上帝嗎?請你們把夢告訴我。」

9侍酒總管便把自己的夢告訴約瑟,說:「我夢見一棵葡萄樹, 10樹上有三根枝子,枝子發芽開花,結滿了成熟的葡萄。 11我手上拿著法老的酒杯,摘下葡萄,把汁擠在酒杯中,然後遞給法老。」 12約瑟說:「這夢的意思是,三根枝子代表三天, 13三天之內,法老必定釋放你,恢復你侍酒總管的職位。你仍要和從前一樣伺候法老飲酒。 14當你再被重用的時候,請你記得恩待我,在法老面前提及我,救我出獄。 15我是從希伯來人那裡被拐來的,無辜被囚在監。」

16膳食總管見夢解得好,就對約瑟說:「我也做了個夢,我夢見自己頭上頂著三筐白餅, 17最上面的一筐裡放著為法老烤製的各種食物,有鳥來吃筐內的食物。」 18約瑟說:「這夢的意思是,三筐就是三天, 19三天之內,法老必砍下你的頭,把你掛在木頭上,鳥要來吃你的肉。」

20第三天是法老的生日,他宴請文武百官,把侍酒總管和膳食總管從監牢裡提出來, 21恢復了侍酒總管的職位,讓他仍舊伺候自己飲酒, 22卻處死了膳食總管,正應驗了約瑟的話。 23然而,法老的侍酒總管把約瑟忘了。

Hindi Contemporary Version

उत्पत्ति 40:1-23

योसेफ़ द्वारा स्वप्न व्याख्यान

1कुछ समय बाद राजा फ़रोह के पिलाने वाले और उनके खाना बनानेवाले ने अपने स्वामी फ़रोह के विरुद्ध कुछ गलती करी. 2और प्रधान खानसामे और प्रधान पिलाने वाले दोनों पर राजा गुस्सा हुए, 3इसलिये राजा ने उन दोनों को कारावास में डाल दिया, जहां योसेफ़ भी बंदी थे. 4अंगरक्षकों के प्रधान ने योसेफ़ के हाथ उन दोनों को सौंप दिया. योसेफ़ उनका ध्यान रखते थे.

और वे दोनों कुछ समय तक कारावास में रहे, 5तब एक रात दोनों ने अलग-अलग सपना देखा, और हर एक सपने का अपना अलग-अलग अर्थ था.

6जब सुबह योसेफ़ वहां आए और उन दोनों को देखा कि वे उदास थे. 7योसेफ़ ने जो उसके साथ कारावास में थे, उनसे पूछा: “कि आप दोनो ऐसे उदास क्यों हैं?”

8उन्होंने कहा, “हम दोनों ही ने स्वप्न देखा है, किंतु कोई भी नहीं है, जो उसका मतलब बता सके.”

यह सुनकर योसेफ़ ने कहा, “क्या आप नहीं जानते कि स्वप्न की व्याख्या परमेश्वर की ओर से होती है? कृपया आप मुझे अपना स्वप्न बताएं.”

9तब पिलाने वाले ने योसेफ़ से कहा “अपने स्वप्न में मैंने देखा कि मेरे पास एक दाखलता (अंगूर की बेल) है, 10जिसमें तीन शाखाएं हैं. जैसे ही इन पर कलियां खिली, उनमें फूल खिलें और अंगूर लगकर पक गए. 11और मैं फ़रोह का प्याला लिए था और मैंने अंगूर लेकर प्याले में रस निचोड़ा. तब मैंने प्याला फ़रोह के हाथों में दिया.”

12स्वप्न सुनकर योसेफ़ ने कहा, “वे तीन शाखाएं तीन दिन हैं. 13और तीन दिन में फ़रोह आपको वापस बुला लेंगे और आपका काम दुबारा आपको सौंप देंगे और आप फिर से पिलाने का काम शुरु करेंगे. 14योसेफ़ ने उनसे कहा जब आप फ़रोह राजा के पास जायेंगे तब मुझे मत भूलना लेकिन राजा को मेरे बारे में बताना और मुझे कारावास से बाहर निकलवाना. 15मुझे अपने घर इब्रियों के देश से ज़बरदस्ती से लाया गया था और यहां पर भी मैंने ऐसा कोई अपराध नहीं किया है जिसके लिये मुझे इस काल-कोठरी में डाला जाता.”

16फिर खाना बनानेवाले ने देखा कि दूसरे नौकर के स्वप्न की व्याख्या उनके पक्ष में थी तब उसने योसेफ़ से कहा, “मैंने भी एक स्वप्न देखा है: मैंने देखा कि मेरे सिर पर सफ़ेद रोटी की तीन टोकरियां रखी हैं. 17सबसे ऊपर की टोकरी में फ़रोह के लिए तैयार किए गए सभी प्रकार के व्यंजन थे, टोकरी सिर पर रखी हुई थी पक्षी उसमें से खाते जा रहे थे.”

18“स्वप्न सुनकर योसेफ़ ने अर्थ बताया कि वे तीन टोकरियां तीन दिन हैं. 19इन तीन दिनों में फ़रोह तुम्हारा सिर काट देंगे और शरीर को पेड़ पर लटका देंगे और पक्षी आकर तुम्हारे शरीर को नोचेंगे.”

20यही हुआ. तीसरे दिन फ़रोह का जन्म-दिन था उसने अपने सभी सेवकों को भोज दिया उस दिन पिलाने वाले और पकाने वाले दोनों को कारावास से बाहर लाया गया: 21पिलाने वाले को फिर से उसकी जवाब-दारी दे दी; वह फ़रोह के हाथ में फिर से प्याला देने लगे. 22लेकिन पकाने वाले को फांसी पर लटका दिया, सब कुछ वैसा ही हुआ जैसा योसेफ़ ने बताया था.

23यह सब देखकर भी पिलाने वाले ने योसेफ़ को याद न किया; पर भूल गया.