Chinese Contemporary Bible (Simplified)

诗篇 100:1-5

第 100 篇

颂赞上帝之歌

感恩诗。

1普世要向耶和华欢呼!

2你们要高高兴兴地事奉耶和华,

到祂面前来欢唱。

3要知道耶和华是上帝,

祂创造了我们,

我们属于祂,是祂的子民,

是祂草场上的羊。

4要怀着感恩的心进入祂的门,

唱着赞美的歌进入祂的院宇;

要感谢祂,称颂祂的名。

5因为耶和华是美善的,

祂的慈爱千古不变,

祂的信实世代长存。

Hindi Contemporary Version

स्तोत्र 100:1-5

स्तोत्र 100

एक स्तोत्र. धन्यवाद के लिए गीत

1हर्षोल्लास में याहवेह के स्तवन में समस्त पृथ्वी उच्च स्वर में घोष करे.

2याहवेह की सेवा-आराधना आनंदपूर्वक की जाए;

हर्ष गीत गाते हुए उनकी उपस्थिति में प्रवेश किया जाए.

3यह समझ लो कि स्वयं याहवेह ही परमेश्वर हैं.

हमारी रचना उन्हीं ने की है, स्वयं हमने नहीं; हम पर उन्हीं का स्वामित्व है.

हम उनकी प्रजा, उनकी चराई की भेड़ें हैं.

4धन्यवाद के भाव में उनके द्वारों में

और स्तवन भाव में उनके आंगनों में प्रवेश करो;

उनकी महिमा को धन्य कहो.

5याहवेह भले हैं;

उनकी करुणा सदा की है;

उनकी सच्चाई का प्रसरण समस्त पीढ़ियों में होता जाता है.